हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना 2021-2030, नीति, रजिस्ट्रेशन (Madhumakhi Palan Haryana)

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना 2021-2030, नीति, रजिस्ट्रेशन, कांटेक्ट नंबर, शहद की खेती, उत्पादन, लाभार्थी किसान, पात्रता, दस्तावेज, अधिकारिक वेबसाइट, हेल्पलाइन नंबर (Madhumakhi Palan Haryana in Hindi) (Contact Number, Registration, Policy, Shahad ki Kheti, Honey Farming, Benefit, Kisan, Eligibility, Document, Official Website, Helpline)

भारत में हर साल लगभग एक लाख मेट्रिक टन का शहद का उत्पादन किया जाता है। शहद के उत्पादन को निर्यात में इस्तेमाल किया जाता है जो भारत के प्रॉफिट के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। भारत सरकार ने देश में ऐसी कई संस्थाएं चलाई हैं जो शहद उत्पादन में योगदान देती है। भारत में राज्य सरकारें विभिन्न संस्थाएं और योजनाएं चलाती है जो विभागों और किसानों को शहद उत्पादन की ओर प्रेरित करती हैं। ऐसी ही एक योजना हरियाणा सरकार ने अपने राज्य में शहद उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए आरंभ की है। हम बात कर रहे हैं हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना की। इस योजना के अंतर्गत हरियाणा सरकार अपने राज्य में शहद उत्पादन को 10 गुना बढ़ावा देने का विचार प्रस्तुत कर चुकी है। हमेशा आर्टिकल के माध्यम से आपको सरकार द्वारा दी गई हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना से जुड़ी सभी जानकारी देंगे। 

haryana madhumakkhi palan karya yojana in hindi

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना 2021-2030 (Madhumakhi Palan Haryana in Hindi)

योजना का नामहरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना
किसके द्वारा आरंभ की गईहरियाणा सरकार
उद्देश्यराज्य में 2030 तक मधुमक्खी उत्पादन को 10 गुना बढ़ावा देना
राज्यहरियाणा
लाभार्थीहरियाणा के किसान
कब आरंभ की गईसितंबर 2021
अधिकारिक वेबसाइटNA
हेल्पलाइन नंबरNA

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना क्या है (What is Madhumakhi Palan Haryana)

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना हरियाणा सरकार द्वारा आरंभ की गई एक ऐसी योजना है जिसके अंतर्गत राज्य में 2030 तक शहद उत्पादन को 10 गुना तक बढ़ावा दिया जा सकता है। यह योजना राज्य में शहद उत्पादन का पूर्ण रूप से कार्य करेगी और किसानों को इसके लिए प्रेरित करके उनकी आय में भी वृद्धि लाएगी। 

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना उद्देश्य (Objective)

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना का उद्देश्य वर्ष 2030 तक हरियाणा में शहद के उत्पादन को 10 गुना बढ़ाना है। इस योजना का उद्देश्य किसानों को शहद उत्पादन के लिए प्रेरित करना तथा उनकी आय में वृद्धि लाना भी है। ‌ इस योजना से विभिन्न प्रकार के शहद के प्रोडक्ट्स बनाए जाएंगे जिससे किसानों की आय में वृद्धि के साथ-साथ, वे पूर्ण रूप से आत्मनिर्भर बन पाएंगे और राज्य के लिए भी यह बहुत प्रॉफिटेबल होगा। 

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना विशेषताएं (Features)

  • हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना के अंतर्गत हरियाणा में शहद के उत्पादन को बढ़ावा दिया जाएगा। ताकि पहले से भी ज्यादा हरियाणा में शहद का उत्पादन हो।
  • हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य के लिए राज्य सरकार 5000 नए किसानो को तैयार करेगी। सरकार ने यह भी विचार रखा है कि इसके लिए सरकार किसानों को सहायता भी प्रदान करेगी। सरकार खासकर छोटे किसानों पर ज्यादा ध्यान देगी। 
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य में शहद के विभिन्न उत्पादों जैसे बी वैक्स, मधुमक्खी विष, रॉयल जेली, मधुमक्खी पराग एवं प्रोपोलिस की बिक्री को बढ़ावा दिया जाएगा।‌ सरकार के मुताबिक शहद के इन उत्पादों को बेचने से किसानों की आय में बढ़ोतरी आएगी। 
  • सरकार के मुताबिक किसानों को सूरजमुखी और सरसों जैसी फसलों की बुआई के लिए भी प्रोत्साहित किया जाएगा। 
  • राज्य के निजी उद्यमियों को मधुमक्खी के बॉक्स को बनाने का कार्य दिया जाएगा और विभागों के द्वारा इन बॉक्स की निगरानी रखी जाएगी। 
  • एकीकृत मधुमक्खी पालन विकास केंद्र (आईबीडीसी) रामनगर, कुरुक्षेत्र को उत्कृष्टता केंद्र बनाने का लक्ष्य रखा जा रहा है। 
  • आपको बता दें कि हरियाणा का स्थान शहद के उत्पादन में सातवां है, जहाँ पर 48 हजार मीट्रिक टन शहद का उत्पादन होता है. इस लक्ष्य को बढ़ा कर सरकार इसे 1 लाख मीट्रिक तक करना चाहती है. जिसके लिए इस योजना को शुरू किया गया है.
  • हरियाणा राज्य सरकार मधुमक्खी पालन को बढ़ावा दिया जायेगा इसलिए विभाग द्वारा हनी ट्रेड सेंटर, विलेज ऑफ़ एक्सीलेंस एवं टेस्टिंग लैब जैसे संस्थानों की स्थापना की जाएगी.

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना पात्रता (Eligibility)

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए ऐसे किसान पात्र होंगे जोकि हरियाणा के मूल रूप से निवासी है। 
  • हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना के लिए 5000 नए किसानों को तैयार किया जाएगा। 
  • इस योजना के अंतर्गत मधुमक्खी पालन कार्य हेतु छोटे तथा बड़े किसानों, निजी उद्यमियों को शहद बॉक्स बनाने और विभागों को मधुमक्खी बॉक्स की निगरानी रखने और अन्य कार्य हेतु पात्र बनाया जाएगा। 

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना सब्सिडी (Subsidy) 

हरियाणा में मधुमक्खी पालन पर सरकार द्वारा 40% सब्सिडी दी जाती थी जो बढ़ाकर 45% कर दी गई थी। और मधुमक्खी पालन कार्य हेतु सब्सिडी 85% कर दी जाएगी। ऐसा माना जा रहा है कि उद्यान विभाग मधुमक्खी पालन पर अन्य योजनाओं के साथ बढ़ाई गई सब्सिडी राशि के प्रसार का कार्य बड़े लेवल पर किया जाएगा। 

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना आवेदन (Application)

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना के आवेदन से जुड़ी जानकारी राज्य सरकार ने अब तक सूचित नहीं की है। हम आपसे निवेदन करते हैं कि आप इसके अपडेट से जुड़े रहें। राज्य सरकार जल्द ही आवेदन की जानकारी दे सकती है। 

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना सब्सिडी के लिए संपर्क करें

राज्य सरकार द्वारा मधुमक्खी पालन कार्य हेतु जो सब्सिडी की राशि बढ़ाई गई है उसका लाभ किसान, बागबान और युवा ले सकते हैं। सब्सिडी का लाभ उठाने के लिए आवेदकों को अपने जिलों के उद्यान अधिकारियों या उपनिदेशक एकीकृत मधुमक्खी पालन विकास केंद्र रामनगर, कुरुक्षेत्र से संपर्क करना होगा। 

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना ऑफिशल वेबसाइट (Official Website)

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्ययोजना की ऑफिशल वेबसाइट पर योजना से जुड़ी सभी जानकारी दी जाएगी। परंतु राज्य सरकार ने इस योजना की ऑफिशल वेबसाइट के बारे में अभी तक कोई भी जानकारी नहीं दी है। हम उम्मीद करते हैं कि राज्य सरकार इसकी जानकारी जल्द ही देगी। 

हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना हेल्पलाइन नंबर (Helpline Number)

हरियाणा सरकार ने मधुमक्खी पालन कार्य योजना के हेल्पलाइन नंबर को अभी तक अपडेट नहीं किया है। राज्य सरकार जल्द ही हेल्पलाइन नंबर से जुड़ी जानकारी प्रदान करेगी। 

FAQ

Q : क्या हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना सिर्फ हरियाणा राज्य के शहद उत्पादन हेतु है?

Ans : हां।

Q : हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना की ऑफिशल वेबसाइट क्या है?

Ans : ऑफिशल वेबसाइट कार लांच राज्य सरकार द्वारा जल्द किया जाएगा। 

Q : हरियाणा मधुमक्खी पालन कार्य योजना की हेल्पलाइन नंबर क्या है?

Ans : हरियाणा सरकार द्वारा हेल्पलाइन नंबर की जानकारी अब तक नहीं दी गई है। 

Q : भारत के शहद उत्पादन में हरियाणा राज्य कितने नंबर पर है?

Ans : सातवें स्थान पर।

Q : हरियाणा में टोटल कितने मीट्रिक टन शहद का उत्पादन होता है?

Ans : 4800 मेट्रिक टन

अन्य पढ़ें –