School Quality Assurance and Assessment Framework (SQAA) 2021 (स्कूल क्वालिटी इंश्योरंस एंड असेसमेंट फ्रेमवर्क)

(School Quality Assurance and Assessment Framework) (SQAA) (Full form, Software Engineering, Quality, Testing, Activities) स्कूल क्वालिटी इंश्योरंस एंड असेसमेंट फ्रेमवर्क

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने भारत देश में गरीब किसान और भी अन्य सभी वर्गों के लिए कई बड़े कार्य किए हैं और तरह-तरह की योजनाएं लेकर आए हैं. मोदी जी का मानना है कि देश जन विकास की ओर अग्रसर है तो ऐसे में शिक्षा में बड़े बदलाव होना बहुत जरूरी है. इसलिए मोदी जी ने जो पुरानी शिक्षा नीति चली आ रही थी उस में बड़े बदलाव करते हुए नई शिक्षा नीति को लागू किया है. जिसके अंतर्गत कई बड़ी योजनाएं शुरू की गई है और बड़े बड़े बदलाव किए गए हैं। 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के मौके पर मोदी जी ने एक शिक्षक पर्व का आयोजन किया. यह विशेष पर्व देश के सभी शिक्षकों और छात्रों के लिए आयोजित किया गया. इस पर्व के उद्घाटन के दौरान मोदी जी ने शिक्षा क्षेत्र से जुड़ी हुई भिन्न-भिन्न 5 योजनाएं लागू की. आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के द्वारा स्कूल क्वालिटी एश्योरेंस एंड एसेसमेंट फ्रेमवर्क नाम की योजना के बारे में जानकारी दे रहे हैं। इसे स्कूल गुणवत्ता आश्वासन और मूल्यांकन योजना भी कहा जाएगा। कृपया योजना से जुड़ी जानकारी के लिए हमारे इस आर्टिकल में अंत तक जुड़े रहे। 

School Quality Assessment  Framework in Hindi

School Quality Assurance and Assessment Framework (SQAA) 2021)

नामस्कूल क्वालिटी इंश्योरंस एंड असेसमेंट फ्रेमवर्क  (SQAA)
किसने लांच कीप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी
कब लांच हुई7 सितम्बर 2021
कार्यक्रम का नामशिक्षक पर्व
आधिकारिक पोर्टलNA
हेल्पलाइन नंबरNA

स्कूल क्वालिटी एश्योरेंस एवं एसेसमेंट योजना उद्देश्य

योजना का उद्देश्य देश में नई शिक्षा नीति को लागू करना और पुरानी चली आ रही शिक्षा नीति में बड़े बदलाव करना है। इस योजना के द्वारा सरकार देश के सभी सरकारी स्कूलों की गुणवत्ता का मूल्यांकन करेगा और उसे उचित स्तर का बनाने का प्रयास किया जाएगा।

स्कूल क्वालिटी एश्योरेंस एंड एसेसमेंट फ्रेमवर्क विशेषताएं (SQAA Important Points, Features)

  • सरकार ने योजना की घोषणा के दौरान यह बताया कि समस्त देश में नई शिक्षा नीति लागू की जा चुकी है अब से इस नीति के अनुसार ही कार्य किया जाएगा। 
  • देश में व्याप्त नई शिक्षा नीति के अनुसार भारत देश के समस्त सीबीएसई केंद्रीय विद्यालय एवं नवोदय विद्यालय के लिए एक स्टैंडर्ड सेटिंग अथॉरिटी बनाई जाएगी। 
  • अब से देश के सभी केंद्रीय एवं नवोदय विद्यालय एसएससी के तौर पर काम करेंगे।
  • सीबीएसई बोर्ड ने देश के सभी स्कूल में होने वाले सभी क्षेत्रों के कामकाज को देखा है और एक ड्राफ्ट तैयार किया है। यह फ्रेमवर्क पब्लिक डोमेन में रहेगा।
  • इस फ्रेमवर्क अंतर्गत देश में व्याप्त 25000 के लगभग स्कूल और दो करोड़ बच्चे साथ ही 1000000 शिक्षक शामिल होंगे।

स्कूल क्वालिटी एश्योरेंस हैंड असेसमेंट फ्रेमवर्क लाभार्थी (SQAA Benefit)

इस योजना के अंतर्गत भारत देश के सभी सीबीएसई एवं नवोदय स्कूल शामिल होंगे जिनकी संख्या 25600 के लगभग है। इस योजना से देश में व्याप्त दो करोड़ बच्चे और 1000000 शिक्षक को लाभ होगा।

स्कूल क्वालिटी एश्योरेंस एंड एसेसमेंट फ्रेमवर्क कैसे कार्य करेगा (How will do Work SQAA)

मोदी सरकार द्वारा इस योजना की अभी शुरुआती घोषणा की गई है. योजना कैसे कार्य करें कि किस तरह से इसका लाभ छात्र-छात्राओं शिक्षकों को मिलेगा इसकी जानकारी अभी आधिकारिक तौर पर नहीं दी गई है. अतः जैसी ही या जानकारी जारी की जाएगी इस आर्टिकल द्वारा आप तक पहुंचा दी जाएगी।

FAQ 

Q : स्कूल गुणवत्ता मूल्यांकन और आश्वासन से किसको लाभ होगा?

Ans : सीबीएसई एवं नवोदय स्कूल के छात्र छात्राएं और शिक्षक

Q : स्कूल क्वालिटी एश्योरेंस एंड एसेसमेंट फ्रेमवर्क की घोषणा कब हुई?

Ans : 7 सितंबर

Q : स्कूल क्वालिटी एश्योरेंस एंड एसेसमेंट फ्रेम किस उपलक्ष में लागू किया गया?

Ans : शिक्षक पर्व 

अन्य पढ़ें –

  1. Kartarpur Sahib Corridore Registration
  2. Swachh Bharat Summer Internship Program Scheme
  3. Pm kisan Fasal Bima Yojana
  4. Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana